चीन: कोरोना का पहला केस मिलने के 3 साल बाद वुहान में फिर लगा लॉकडाउन, 8 लाख लोग घरों में कैद – China locks down part of Wuhan nearly three years after first Covid case emerged NTC


चीन में कोरोना ने फिर पैर पसारने शुरू कर दिए हैं. यहां वुहान से उत्तर पश्चिम में कई शहरों में कोरोना के मामले एक बार फिर सामने आने के बाद लॉकडाउन लगा दिया गया है. इन इलाकों में इमारतों को सील किया जा रहा है. चीन में गुरुवार को लगातार तीसरे दिन कोरोना के 1,000 से अधिक नए मामले सामने आए.

वुहान दुनिया का वो पहला शहर है, जहां कोरोना का पहला केस मिला था. इसके बाद 2019 के अंत में यहां सबसे पहले लॉकडाउन लगाया गया था. इस हफ्ते वुहान में कोरोना के 20 से 25 नए मामले दर्ज हुए हैं. बीते 14 दिनों में वुहान में कोरोना के 240 मामले सामने आए. स्थानीय प्रशासन ने एक जिले में आठ लाख से अधिक लोगों को 30 अक्टूबर तक घरों के भीतर ही रहने के आदेश दिए हैं. 

वुहान में पॉर्क की बिक्री पर बैन

सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों और पोस्ट के मुताबिक, वुहान में पॉर्क की बिक्री पर भी बैन लगा  दिया गया है. कोरोना का एक मामला स्थानीय पॉर्क सप्लाई चेन से जुड़ा होने की वजह से यह कदम उठाया गया. चीन का चौथा सबसे बड़ा शहर ग्वांगझोउ और उसकी राजधानी गुआंग्डोंग में कई इलाकों को सील कर दिया गया. 

इसके अलावा दातोंग सहित चीन के कई अन्य बड़े शहरों में भी सरकार ने कोरोना के मद्देनजर एहतियाती कदम उठाए हैं. बीजिंग में एक विजिटर के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद बुधवार को यूनिवर्सल रिसॉर्ट थीम पार्क को बंद कर दिया गया था. 

चीन की जीरो कोविड पॉलिसी

चीन ने कोरोना के मद्देनजर बेहद सख्त जीरो कोविड पॉलिसी लागू की हुई है. इस पॉलिसी के तहत अगर किसी स्थान पर कोरोना का एक मामला भी सामने आता है तो उस इलाके को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया जाता है. वुहान में पहली बार संक्रमण की पुष्टि के बाद राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इस पॉलिसी को देशभर में लागू कर दिया था. हालांकि, चीन की इस पॉलिसी की आलोचना भी होती रही है.



Source link

Spread the love