‘जितेंद्र आव्हाड अपना इस्तीफा वापस लें’, एनसीपी विधायक के बचाव में उतरे अजित पवार – Ajit Pawar asks Jitendra Ahwad to take back his resignation and came to defend NCP MLA ntc


एनसीपी नेता और विधायक जितेंद्र आव्हाड ने एक ओर जहां अपना इस्तीफा महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष को भेज दिया है. वहीं एनसीपी नेता अजित पवार ने उनसे इस्तीफा वापस लेने को कह दिया है. पीटीआई के मुताबिक उन्होंने कहा कि पार्टी विधायक के खिलाफ मामला गलत तरीके से दर्ज किया गया है और इसे वापस लिया जाना चाहिए.

मालूम हो कि जितेंद्र आव्हाड के खिलाफ एक महिला ने छेड़छाड़ के मामले में FIR दर्ज कराई है. महिला का आरोप है कि जब मुम्ब्रा में नए ब्रिज का उद्घाटन हो रहा था, तब विधायक जितेंद्र आव्हाड ने उन्हें गलत इरादे से छुआ था. इसके बाद उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. फिर जितेंद्र आव्हाड ने अपना इस्तीफा महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष को भेज दिया है.उन्होंने कहा कि वह इसलिए इस्तीफा दे रहे हैं क्योंकि उनके खिलाफ तीन दिनों में दो झूठे मामले दर्ज किए गए हैं. 

अजित पवार ने जितेंद्र का किया बचाव

एनसीपी नेता पवार ने आव्हाड से जुड़ी हालिया घटनाओं पर खेद जाहिर करते हुए कहा कि जब मराठी फिल्म ‘हर हर महादेव’ की स्क्रीनिंग बाधित हुई, तो जिस व्यक्ति को पीटा गया था, उसने खुद बताया कि आव्हाड ने उसकी रक्षा की थी, लेकिन आव्हाड पर केस दर्ज कर लिया गया और उन्हें रातभर थाने में रखा गया.’

पवार ने कहा,‘दूसरी घटना में, सीएम एकनाथ शिंदे कार्यक्रम में थे और आव्हाड भी कार्यक्रम में मौजूद थे. वह वीडियो में लोगों को (रास्ता बनाने के लिए) एक तरफ होने के लिए कहते हुए दिखाई दे रहे हैं और महिला को एक तरफ करने की कोशिश करते दिख रहे हैं. वहां कुछ नहीं हुआ. इस तथ्य के बावजूद कि शिंदे मौके से सिर्फ 10 मीटर दूर थे, इस तरह का अपराध दर्ज किया गया.’

सीएम को सामने आकर बताना चाहिए सच

अजित पवार ने कहा कि मुख्यमंत्री शिंदे को आगे आना चाहिए और समझाना चाहिए कि वहां ऐसा कुछ नहीं हुआ था. उन्होंने कहा कि चाहे वह मुख्यमंत्री कैसे भी बनें, शिंदे राज्य के 13 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं.

एक जनप्रतिनिधि को परेशान किया जा रहा

अजित पवार ने आगे कहा कि राजनीतिक और वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अगर ऐसी घटनाएं होती रहती हैं तो यह राज्य के लिए अच्छा नहीं है. कई लोगों की राय है कि (आव्हाड के खिलाफ) ऐसी धारा लगाने की कोई आवश्यकता नहीं थी, लेकिन यह एक जनप्रतिनिधि को परेशान करने की कोशिश है. यह कायरता का कृत्य है.’ उन्होंने कहा कि ऐसा असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा है.

इस्तीफे के नौटंकी कर रहे एनसीपी नेता

महाराष्ट्र के ग्रामीण विकास मंत्री और बीजेपी नेता गिरीष महाजन ने जितेंद्र आव्हाड पर टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि जितेंद्र आव्हाड इस्तीफे की नौटंकी कर रहे हैं. उनके खिलाफ मामला दर्ज हुआ है, उसकी जांच होगी. कोर्ट में जो सच है साबित होगा.

उन्होंने कहा कि एनसीपी नेता ने खुद चार दिन पहले एक बेगुनाह को थियेटर में मारा. इन लोगों ने मुझ पर, नारायण राणे के खिलाफ झुठे केस दर्ज किए तब बदले की कार्रवाई नहीं थी क्या? उन्होंने उस महिला के साथ जो किया वो सबने देखा है. कानून के तहत कार्रवाई हुई है.



Source link

Spread the love