तेजस्वी ने किसानों के भारत बंद को दिया समर्थन, पर खुद रहे ग्राउंड जीरो से फिर गायब! – Tejashwi supported the farmers Bharat bandh but he himself disappeared from ground zero again NTC


स्टोरी हाइलाइट्स

  • कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों ने बुलाया था भारत बंद
  • कांग्रेस, आरजेडी समेत विपक्षी दलों ने दिया था समर्थन
  • आरजेडी नेता तेजस्वी यादव रहे ग्राउंड जीरो से नदारद

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा सोमवार को बुलाए गए भारत बंद के दौरान एक बार फिर से बिहार के नेता प्रतिपक्ष और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ग्राउंड जीरो से गायब रहे.

यह ऐसा दूसरा मौका था जब साल भर के अंदर किसानों ने तीन कृषि कानून के विरोध में भारत बंद किया और दोनों ही मौकों पर आरजेडी ने इस बंद को समर्थन तो दिया मगर इसके पार्टी का सबसे बड़ा चेहरा तेजस्वी यादव जमीन पर नजर नहीं आए.

किसानों के भारत बंद को सफल बनाने के लिए 2 दिन पहले ही तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन के सभी नेताओं की पटना में बैठक हुई थी जहां पर सभी नेताओं ने किसानों के हक में आवाज बुलंद की और भारत बंद को समर्थन का ऐलान किया.

पटना में सुबह से ही आरजेडी ने बंद को सफल बनाने के लिए जगह जगह पर हिंसा और तोड़फोड़ का सहारा लिया. पटना के डाकबंगला चौराहे पर दिन के वक्त आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के नेतृत्व में कई अन्य नेता जैसे श्याम रजक, अब्दुल बारी सिद्दीकी, आलोक मेहता, भोला यादव और मृत्युंजय तिवारी जुटे मगर तेजस्वी यादव बंद के दौरान नदारद रहे.

जब बंद के समर्थन में उतरे आरजेडी नेताओं से तेजस्वी की गैर मौजूदगी को लेकर सवाल पूछा गया तो सभी ने नेता प्रतिपक्ष का बचाव किया और कहा कि उन्हीं के आह्वान पर आरजेडी किसानों के समर्थन में उतरी है.

आरजेडी के पूर्व विधायक भोला यादव ने कहा, ”तेजस्वी यादव के सभी सिपाही इस जमीन पर मौजूद है. ऐसा कोई जरूरी नहीं है कि तेजस्वी हर जगह मौजूद रहे.”

बता दें कि पिछले साल 8 दिसंबर को भी किसानों ने किसी कानून का विरोध करते हुए भारत बंद का आह्वान किया था और उस दौरान भी आरजेडी ने बंद का समर्थन तो किया था मगर खुद तेजस्वी यादव उस बंद के दौरान गायब दिखे.

 



Source link

Spread the love