दिल्ली-NCR में प्रदूषण का स्तर ‘बेहद खतरनाक’, फायर ब्रिगेड से करना पड़ा पानी का छिड़काव – Delhi Air Quality Now Severe Polluted Day Of The Season So Far ntc


जाड़े की शुरुआत होते ही दिल्ली-NCR में प्रदूषण ने फिर अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि अब दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पानी की बौछारों का छिड़काव करना पड़ रहा है.

रविवार को दिल्ली की हवा ‘बेहद खराब’ स्तर पर पहुंच गई. कई इलाकों में वायु प्रदूषण गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया. पंजाब में बढ़ती पराली जलाने की घटनाओं के चलते आने वाले समय में दिल्ली-NCR की हवा और ज्यादा प्रदूषित हो सकती है.

पराली जलाने की घटनाएं बढ़ने के बाद दिल्ली में PM2.5 की मात्रा में 26 प्रतिशत इजाफा हो गया है. यह इस साल सबसे ज्यादा है. रविवार को दिल्ली का ओवरऑल सूचकांक (AQI) सुबह 9 बजे 367 रहा, जबकि शाम को कुछ सुधार के साथ AQI 352 हो गया.

रविवार को आनंद विहार (AQI 449) राजधानी का सबसे प्रदूषित इलाका रहा, इसके बाद विवेक विहार 402 AQI के साथ दूसरे नंबर पर रहा. इससे एक दिन पहले शनिवार को दिल्ली का ओवरऑल AQI 397 था. प्रदूषण का यह स्तर जनवरी के बाद सबसे खराब है. गुरुवार को यह 354, बुधवार को 271, मंगलवार को 302 और सोमवार (दिवाली के दिन) 312 था. 

अमेरिका

वायु प्रदूषण से खराब होते हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार ने फायर ब्रिगेड की 22 गाड़ियों से दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पानी का छिड़काव कराना शुरू कर दिया है. इनमें नरेला, आनंद विहार, मुंडका, द्वारका, आनंद विहार, पंजाबी बाग, आरके पुरम, बवाना, रोहिणी 16, ओखला, जहांगीरपुरी, वजीरपुर और मायापुरी है.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा है कि आनंद विहार और विवेक विहार में लगातार प्रदूषण का स्तर बद्तर होता जा रहा है. यह क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) से संबंधित निर्माण कार्य के कारण हो सकता है.

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली-यूपी सीमा पर प्रदूषण बढ़ने में डीजल से चलने वाली बसों की अहम भूमिका है. पर्यावरण मंत्री ने आगे कहा कि हम यूपी सरकार से कम से कम NCR के जिलों में सीएनजी बसें चलाने का अनुरोध करते हैं. इससे वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी.

कल के मुकाबले प्रदूषण में कुछ कमी

रविवार शाम को दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक में कल शाम की तुलना में थोड़ा सुधार हुआ है. जिन 52 स्टेशनों का डेटा उपलब्ध है, उनमें से 5 स्टेशन गंभीर श्रेणी में हैं, और 42 बहुत खराब श्रेणी में हैं. शेष पांच खराब श्रेणी में हैं.



Source link

Spread the love