पाकिस्तान को FATF ने ग्रे लिस्ट से बाहर किया, भारत ने क्या कहा? – pakistan fatf grey list india reaction terrorism ntc


पाकिस्तान को FATF ने ग्रे लिस्ट से बाहर कर दिया है. कयास तो पहले से लग रहे थे लेकिन शुक्रवार को पाकिस्तान को बड़ी राहत देते हुए उसे ग्रे लिस्ट से बाहर किया गया. अब भारत की तरफ से भी FATF के इस फैसले पर प्रतिक्रिया दे दी गई है. जोर देकर कहा गया है कि पाकिस्तान पर FATF की तरफ से जबरदस्त दबाव था.

पाकिस्तान पर था जबरदस्त दबाव

जारी बयान में वित्त मंत्रालय ने कहा है कि FATF की सख्ती की वजह से पाकिस्तान ने कई बड़े आतंकियों के खिलाफ एक्शन लिया है. ये पूरी दुनिया के भले में है कि ये स्पष्ट रहे कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे, अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों से आतंकवाद को खत्म करे. अब भारत ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है, जोर देकर कहा गया है कि पाकिस्तान सिर्फ और सिर्फ FATF की कड़ी कार्रवाई की वजह से झुका है.

लेकिन FATF के इस फैसले पर पाकिस्तान ने भी खुशी जाहिर की है. प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की तरफ से जोर देकर कहा गया है कि पाकिस्तान द्वारा किए गए तमाम प्रयासों पर मुहर लगा दी गई है. उनकी तरफ से सेना को भी बधाई दी गई है, कहा गया है कि उनकी मेहनत भी रंग लाई है.

क्यों ग्रे लिस्ट से बाहर हुआ पाक?

जानकारी के लिए बता दें कि लंबे समय से इस बात पर विचार चल रहा था कि पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से बाहर किया जाएगा. असल में 34 ऐसे मापदंड थे जो पाकिस्तान के लिए सेट किए गए थे. अगर उसे ग्रे लिस्ट से हटना था तो उन मापदंडों पर खरा उतरना जरूरी था. अब FATF ने अपने जारी बयान में कहा है कि पाकिस्तान कुछ हद तक उन मापदंडों पर खरा उतरा है.

FATF (Financial Action Task Force) एक ऐसा अंतरराष्ट्रीय संस्था है. यह अंतरराष्ट्रीय वित्तीय अपराध को रोकने की कोशिश करता है, जो कि आतंकवाद को बढ़ाने के लिए किए जाते हैं. पाकिस्तान पर आरोप लगे थे कि वहां मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादियों को आर्थिक मदद पहुंचाने का काम हो रहा है. इस आरोप के बाद पाकिस्तान को 2018 में ग्रे लिस्ट में डाल दिया गया था. लेकिन अब कुछ रिपोर्ट्स के आधार पर FATF ने पाकिस्तान को राहत देने का काम कर दिया है. भारत की तरफ से इसका विरोध जरूर किया गया, लेकिन FATF ने उसे नजरअंदाज कर दिया.



Source link

Spread the love