Dhanteras 2021: धनतेरस पर कारोबारी जरूर खरीदें ये चीज, साल भर होगी तरक्की, मिलेगा लाभ – dhanteras 2021 shopping tips for more money and prosperity tlifd


स्टोरी हाइलाइट्स

  • धनतेरस के दिन करें खरीदारी
  • पूजन के दिन करें ये उपाय
  • होगा लाभ ही लाभ

Dhanteras Shopping Tips: धनतेरस (Dhanteras) भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है. धनतेरस से शुरू होने वाला पर्व का सिलसिला 5 दिनों तक चलता है. कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन ही भगवान धन्वंतरी का जन्म हुआ था इसलिए इस तिथि को धनतेरस के नाम से जाना जाता है. इस दिन महालक्ष्मी के सचिव कुबेर का भी पूजन होता है. इनके पूजन से अपार धन की प्राप्ति का वरदान मिलता है. धनतेरस के दिन अलग-अलग प्रयोजन के हिसाब से खरीदारी करनी चाहिए. इस दिन की खरीदारी में कुछ खास बातों का ध्यान रखकर भी लाभ प्राप्त किया जा सकता है.

धनतेरस के दिन इस तरह की खरीदारी करें (Things to Buy on Dhanteras 2021)

धनतेरस के दिन जो भी चीज़ें खरीदी जाती हैं, उनसे साल भर धन का आगमन होता रहता है. आम तौर पर इस दिन धातु और बर्तन खरीदने की परंपरा है. अगर धातु खरीदना है तो सोना, पीतल और चांदी खरीदना शुभ होगा. गणेश लक्ष्मी की मूर्तियां और अन्य पूजन सामग्री भी इसी दिन खरीद लेनी चाहिए. इस दिन थोड़ा ही सही लेकिन दान जरूर करें. धनतेरस के दिन लोहा खरीदने से बचना चाहिए.

मनोकामना की पूर्ति और कारोबार में तरक्की के लिए यें खरीदें- ज्योतिषों के अनुसार, अगर आप आर्थिक लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो धनतेरस के दिन पानी का बर्तन खरीदें. वहीं, कारोबार में विस्तार और उन्नति के लिए धातु का दीपक खरीदना बेहद फलदायी होता है. कारोबारियों को इस दिन बहीखाता भी खरीदना चाहिए. संतान सम्बन्धी समस्या से निजात पाने के लिए थाली या कटोरी, स्वास्थ्य और आयु के लिए धातु की घंटी और घर में सुख शांति और प्रेम के लिए  खाना पकाने का बर्तन खरीदना शुभ रहता है.

धनतेरस पर धन प्राप्ति के उपाय (Dhanteras Upaay)- धनतेरस के दिन छोटी ही सही चांदी की वस्तु जरूर खरीदें. इसे लाकर घर में पूजा स्थान पर रख दें. दीपावली के दिन इस वस्तु को मां लक्ष्मी को अर्पित करें. दीपावली के अगले दिन इसको चावल के ढेर में डाल दें. इसे साल भर वहीं रहने दें. इससे धन की सारी समस्या दूर हो जाएगी.

धनतेरस के दिन रखें इन बातों का ध्यान- धनतेरस के दिन सबसे पहले पूरे घर की साफ़ सफाई जरूर कर लें.  घर को फूल तथा वन्दनवार से सजाएं. दोपहर या सायं काल के समय बर्तन या आभूषण खरीदें. ध्यान रखें इसका प्रयोग लक्ष्मी पूजन के बाद ही कर सकते हैं उसके पहले नहीं. संध्याकाल के समय दीपदान करें.

 



Source link

Spread the love