Sahitya Aaj Tak 2022: ‘अब जख्मों से काम ल‍िया जा सकता है…’, सतलज राहत इंदौरी ने सुनाए बेहतरीन शेर


Sahitya Aaj Tak 2022: ‘अब जख्मों से काम ल‍िया जा सकता है…’, सतलज राहत इंदौरी ने सुनाए बेहतरीन शेर

Sahitya Aaj Tak 2022: दिल्ली के मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में ‘साहित्य आजतक 2022’ के तीसरे दिन स्वर्गीय राहत इंदौरी साहब की याद में ये मुशायरे की महफिल सजी. इसमें कई बड़े नामों के साथ स्वर्गीय राहत साहब के बेटे सतलज इंदौरी ने भी शिरकत की. सतलज ने अपने पिता को याद करते हुए बेहतरीन शेर पढ़े. देखें ये वीडियो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें



Source link

Spread the love