Sahitya Aajtak: क्या साहित्य को हमेशा सत्ता विरोधी ही होना चाहिए? अशोक वाजपेयी ने दिया जवाब


Sahitya Aajtak 2022: साहित्य आजतक के मंच पर दिग्गजों के पहुंचने का सिलसिला जारी है. साहित्यकार अशोक वाजपेयी ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की. जब उनसे पूछा गया कि क्या साहित्य को हमेशा सत्ता विरोधी ही होना होगा, तो देखिए उन्होंने इसका क्या जवाब दिया.



Source link

Spread the love