UP: 24 घंटे में ही आगरा पुलिस ने ढूंढ निकाली खोई हुई बिल्ली, जानें कैसे चला सर्च ऑपरेशन – agra police found lost australian cat in twenty four hours uttar pradesh LCLG


पुलिस अमूमन हत्या, आत्महत्या, चोरी, डकैती के मामले सुलझाते नजर आती है. लेकिन कई बार पुलिस के सामने बहुत ही अलग केस सोल्व करने के लिए आते हैं. ऐसा ही अलग मामला आगरा पुलिस के पास आया. पुलिस के पास आए परिवार ने उनकी खोई हुई बिल्ली ढूंढने का आग्रह किया.

आग्रह करने वालों में छोट बच्चे भी शामिल थे. उनके चेहरे पर बिल्ली के खोने के बाद से आई उदासी साफ देखी जा सकती थी. इसके बाद पुलिस ने केवल 24 घंटे के अंदर ही खोई ऑस्ट्रेलियन बिल्ली ढूंढ निकाली.

देखें वीडियो…

बिल्ली को वापस पाकर बच्चों के चेहरे की खुशी दोबारा वापस आ गई. आगरा के मंटोला थाना में रीजा समीर, आहिर समीर और मायशा नाम के तीन बच्चे रोते हुए अपने पिता के साथ पहुंचे थे.

थाने के एसओ राजवीर सिंह बच्चों से मिले और रोने की वजह पूछी. तीनों बच्चों ने कहा कि उनकी पालतू ऑस्ट्रेलियन बिल्ली कहीं गुम हो गई है. आप हमारी बिल्ली ढूंढ दीजिए. एसओ राजवीर सिंह ने बच्चों से उनकी बिल्ली वापस लाने का वादा करके उन्हें घर भेज दिया.

फिर हुआ बिल्ली ढूंढने का ऑपरेशन शुरू

ऑस्ट्रेलियन बिल्ली की तस्वीर भी बच्चों ने पुलिस को उपलब्ध कराई थी. इसके बाद जैकी नाम की इस बिल्ली को ढूंढने के लिए पुलिस ने ऑपरेशन चलाया. पुलिस ने अपने मुखबिरों बिल्ली की सर्चिंग में लगा दिया. बच्चों के घर के आस-पास के सभी सीसीटीवी को चेक किया गया.

बच्चों को वापस मिली उनकी बिल्ली.

8 किमी दूर मिली बिल्ली

बिल्ली जैकी के बारे काफी मशक्कत करने के बाद पुलिस को अपने मुखबिर के जरिए सूचना मिली. मुखबिर ने बताया कि ऑस्ट्रेलियन बिल्ली जैकी मंडोला से करीब 8 किलोमीटर दूर शहीद नगर इलाके में पहुंच गई है. 

शहीद नगर इलाका ताजगंज थाना पुलिस के अंडर आता है. इसलिए मंटोला थाना पुलिस ने संबंधित थाने को बिल्ली के बारे में जानकारी दी. सूचना मिलने के बाद मंटोला थाना पुलिस ताजागंज पुलिस के साथ शहीद नगर पहुंची और बिल्ली को बरामद कर लिया. 

बिल्ली को वापस पाकर बच्चों के खुशी लौटी

पुलिस ने शिकायत मिलने के 24 घंटे के अंदर ही बिल्ली को ढूंढ निकाला. बरामद बिल्ली जैकी को थाने लाया गया. बाद में बच्चों के परिवार को इसकी जानकारी दी गई. बच्चे थाने पहुंचे तो थाना इंचार्ज ने खुद बिल्ली को उनके हाथों में सौंपा. बिल्ली जैकी को देख सभी के चेहरे पर दोबारा मुस्कान लौट आई और बच्चों ने पुलिस का शुक्रिया अदा किया. इसके बाद कानूनी कार्रवाई होने के बाद बिल्ली को लेकर बच्चे खुशी-खुशी घर चले गए.

 

 



Source link

Spread the love